मसूड़ों से खून आने की 11 शीर्ष होम्योपैथिक दवा

 मसूड़ों से खून आने की 11 शीर्ष होम्योपैथिक दवा / Masudo Se khoon Aane ki Homeopathic Medicine

आजकल हर कोई चाहता है कि उसके दांत मोती जैसे सफेद व चमकीले हो लेकिन मोती जैसे सफेद व चमकीले दांत तभी हो सकता जब आपके मसूड़े बिल्कुल स्वस्थ हो,क्योंकि आजकल मसूड़ों में अनेकों प्रकार की समस्याएं हो जाती हैं।


masudo se khoon aane ki homeopathic medicine


जिनमें से सबसे प्रमुख समस्या मसूड़ों से खून आना है।यदि मसूड़ों से खून कभी-कभार आता है तो कोई विशेष चिंता की बात नहीं होती है लेकिन यदि मसूड़ो से खून हर रोज आने लगे तो यह एक गम्भीर समस्या बन जाती है।


जिसकी चिकित्सा कराना आवश्यक हो जाता है।यदि बात मसूड़ों से खून आने की चिकित्सा की कि जाए तो होम्योपैथिक इलाज सबसे बेहतर माना जाता है क्योंकि होम्योपैथिक दवा किसी भी रोग को बिल्कुल जड़ से ठीक कर देती है।


इस लिए आज के इस लेख में हम मसूड़ों से खून आने की होम्योपैथिक दवा के बारे में पूरी जानकारी देंगे।साथ ही साथ आप यह भी जान सकेगे की मसूड़ों से खून आने के कारण कौन-कौन से होते हैं।

इसे भी पढ़े

याददाश्त बढ़ाने की 15 सबसे असरदार होम्योपैथिक दवा


मसूड़ों से खून आने के कारण | Masudo Se Khoon Aane ke Karan

किसी भी व्यक्ति में मसूड़ों से खून आने के निम्नलिखित कारण हो सकते हैं।

  • मसूड़ों में चोट लगना
  • मसूड़ों में सूजन
  • धूम्रपान का सेवन
  • पेरियोडोंटाइटिस
  • मधुमेह
  • गर्भावस्था के दौरान हॉर्मोनल परिवर्तन
  • विटामिन K की कमी
  • विटामिन C की कमी
  • खून पतला करने वाली दवा का सेवन
  • खून की कमी
  • थ्रोम्बोसाइटोपेनिया
  • हीमोफीलिया
  • ल्यूकेमियाए
  • एचआईवी संक्रमण


मसूड़ों से खून आने की होम्योपैथिक दवा / Masudo Se khoon Aane ki Homeopathic Medicine


मसूड़ों से खून आने पर निम्नलिखित होम्योपैथिक दवाओं का प्रयोग किया जा सकता है।

1• Hecla Lava  2X


इस दवा का इस्तेमाल दाँतों से सम्बंधित होने वाली सभी बीमारियों में एक पेटेंट की तरह काम में लायी जाती है।इस दवा का प्रयोग पायरिया,मसूड़ों में फोड़ा,घाव,नासूर,दांतों में कीड़े लगकर दाँतों का क्षय होना आदि बीमारियों में बड़ी की सफलता के साथ प्रयोग में लायी जाती है।

इसे भी पढ़े


2• Merc Solubilis  30


मसूड़ों से खून आने की समस्या को ठीक करने के लिए मर्क सोल एक उत्तम दवा है।इस दवा का प्रयोग तब किया जाता है जब व्यक्ति को मसूड़ों में बहुत सूजन व दर्द हो,वह दर्द रात को बढ़ जाता है।

मसूड़े लाल या नीले रंग के दिखाई देते हो,मुँह से बहुत दुर्गंध आती हो,रोगी का मुंह तर रहते हुए भी बहुत प्यास लगती हो, तब इस दवा के प्रयोग से बहुत ही उत्तम परिणाम मिलता है।

3• kreosotum  30


मसूड़ों से खून आने से रोकने के लिए यह भी एक बहुत जबरदस्त दवा है।इस दवा का प्रयोग तब किया जाता है जब व्यक्ति के मसूड़ों में सूजन व दर्द के साथ काले रंग का खून आता हो,दाँतों में कीड़े लगकर दांत काले हो गए हो तब यह दवा अच्छा काम करती है।

4• Hamamelis Virginica  Q


मसूड़ों से खून आने से रोकने के लिए यह भी एक उत्तम दर्जे की दवा है।इस दवा का प्रयोग तब किया जाता है जब व्यक्ति को बिना दर्द के मसूड़ों से चमकीले लाल रंग खून निकलता है तब वहां पर इस दवा के प्रयोग से शीघ्र ही खून निकलना बंद हो जाता है।


5• Phosphorus  30


मसूड़ों से खून आने से रोकने के लिए यह बेहतरीन दवा है।इस दवा का प्रयोग तब किया जाता है जब रोगी को अपने मसूड़ों को छूने मात्र से ही अनायाश चमकीले लाल रंग का खून निकलने लगता है।

तब इस दवा के प्रयोग से रक्त का थक्का जमकर खून निकलना ठीक हो जाता है।इसके अलावा यदि किसी व्यक्ति को दांत निकलवाने के बाद खून निकलना बंद न हो तो इस दवा के प्रयोग से खून निकलना बहुत शीघ्र बंद हो जाता है।

6• Carbo Vegetabilis  30


मसूड़ों से खून आने से रोकने के लिए कार्बो वेज एक उपयोगी दवा है।इस दवा का प्रयोग उन लोगों में किया जाता है जिन्हें ब्रस या दातुन करते समय मसूड़ों से खून आता है।

तब इस दवा के प्रयोग से मसूड़ों से खून आना बंद हो जाता है।इसके साथ ही कार्बो वेज रोगी को पेट से सम्बंधित शिकायत जैसे पेट के ऊपरी हिस्से में गैस बनना, डकारे आना, सीने में जलन होना आदि लक्षण मौजूद रहता है।

7• Natrum Muriaticum  30


मसूड़ों से खून आने से रोकने के लिए नेट्रम म्यूर एक कारगर दवा है।इस दवा का प्रयोग तब किया जाता है जब रोगी को मसूड़ों में सूजन के साथ साथ मसूड़ों से खून आता है।

 और रोगी कोई भी खाने या पीने की गर्म या ठंडी चीजों को मुंह में लेता है तो उसकी तकलीफें बढ़ जाती है।

8• Calcarea Carbonicum


मोटे और थुलथुले लोगों के मसूड़ों से खून आने पर कैल्केरिया कार्ब एक प्रमुख दवा है।इस दवा का रोगी ठंड के प्रति संवेदनशील होता है।

गर्म पानी मुँह में लेने से उसे दांतों के दर्द व सूजन में आराम मिलता है।इसके साथ ही कैल्केरिया कार्ब रोगी को माथे पर बहुत अधिक पसीना होना तथा अंडा खाने की प्रबल इच्छा होना आदि लक्षण विराजमान रहते हैं।

9• Hepar Sulphur  30


 मसूड़ों से खून के साथ गाढ़ा पीला मवाद आने पर हिपर सल्फर सबसे अच्छी दवा है।इस दवा में रोगी के मसूड़ों में सूजन के साथ तपकमय दर्द होता है।

रोगी सूजन के स्थान को किसी को छूने नहीं देता है क्योंकि छूने से उसके मसूड़ों का दर्द बढ़ जाता है और गर्म पानी मुँह में लेने से या सिकाई करने से दर्द व सूजन में आराम मिलता है।

10• Bovista  30


मसूड़ों से लगातार खून आने से रोकने के लिए यह एक बहुत ही प्रभावी दवा है।इस दवा का प्रयोग उन लोगों में किया जाता है जिसमें व्यक्ति को कोई चीज खाने या चूसने से मसूड़ों से खून आने लगता है।

तब इस दवा के प्रयोग से मसूड़ों से खून आना बंद हो जाता है।इसके अलावा यदि किसी व्यक्ति को दांत निकलवाने के बाद खून आना बंद न हो तो वहाँ पर भी यह दवा फायदा करती है। 

11• Silicea  30


मसूड़ों से खून के साथ पानी जैसा पतला मवाद आने पर साइलीशिया एक उत्तम दवा है।इस दवा का प्रयोग उन लोगों में किया जाता है जो ठंड को बर्दाश्त नहीं कर सकते हैं।गर्म मौसम या गर्म सेक से उनकी सारी तकलीफें कम रहती हैं।

गर्म पानी मुँह में लेने से मसूड़ों के दर्द व सूजन में आराम रहता है।इसके साथ ही हाथ-पांव के तलुओं में बदबूदार पसीना होना साइलीशिया के चुनाव का प्रमुख लक्षण है।

इस लेख में अपने जाना मसूड़ों से खून आने की होम्योपैथिक दवा के बारे में पूरी जानकारी।

आपको यह जानकारी कैसी लगी हमें कमेंट करके जरूर बताएं।


अस्वीकरण:homeoupchar.com इस लेख में बताए गए तरीकों, विधियों और दावों की पुष्टि नहीं करता है, इन्हें केवल सुझाव के रूप में लें, ऐसे किसी भी उपचार/दवा को लागू करने से पहले डॉक्टर की सलाह जरूर लेनी चाहिए।



एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.