याददाश्त बढ़ाने की 15 सबसे असरदार होम्योपैथिक दवा | Yaddasht Badhane ki Homeopathic Medicine

याददाश्त बढ़ाने की 15 सबसे असरदार होम्योपैथिक दवा (Yaddasht Badhane ki Homeopathic Medicine)

आजकल याददाश्त का कमजोर होना एक बहुत बड़ी समस्या बन गई है। हर किसी को अपने जीवन में कभी न कभी इस समस्या का सामना करना पड़ता है।

याददाश्त बढ़ाने की होम्योपैथिक दवा


पूरी दुनिया में हर तीन में से एक व्यक्ति याददाश्त कमजोर होने की समस्या से जूझ रहा है।अगर आप भी याददाश्त कमजोर होने की समस्या से जूझ रहे हैं तो चिंता की कोई बात नहीं है।


 क्योंकि आज हम ऐसी याददाश्त बढ़ाने होम्योपैथिक दवा के बारे में बताने जा रहे हैं जो आपकी स्मरण शक्ति को बढ़ाने के साथ-साथ दिमाग की कमजोरी को भी दूर कर देगी।


याददाश्त कमजोर होने के लक्षण


• अगर किसी व्यक्ति की याददाश्त कमजोर है तो उसे कोई भी चीज याद नहीं रहती चाहे वो नई हो या पुरानी।

• यदि वह की चीज को दुकान से खरीदता है तो वह दुकानदार को पैसे देना भूल जाता है ,कभी कभी वह जिस समान को खरीदता है वह उस समान को दुकान पर से लाना भूल जाता है।

• पढ़ने वाले विद्यार्थी रात दिन मेहनत करके पढ़ाई करते हैं लेकिन परीक्षा के समय उन्हें कुछ भी याद नहीं रहता है वह सब कुछ भूल जाते हैं।

• रोजगारी व्यक्ति अपने रोजगार के बारे में की गयी सभी बातें भूल जाता है।

इस तरह के लक्षण यदि किसी व्यक्ति में दिखाई देने लगे तो समझ लेना चाहिए कि उस व्यक्ति की स्मरण शक्ति कमजोर है।यही याददाश्त कमजोर होने के प्रमुख लक्षण हैं।

और पढ़े


रीड की हड्डी में नस दबने का होम्योपैथिक इलाज


याददाश्त कमजोर होने के कारण | yaddasht kamjor hone ke karan in hindi


यदि किसी व्यक्ति की याददाश्त कमजोर है तो उसके निम्नलिखित कारण हो सकते हैं।

• यदि किसी कारण से सिर में चोट लग जाय तो उस व्यक्ति के सिर की नसों में सूजन आ जाती है जिसके कारण सिर की नसों में पर्याप्त मात्रा में रक्तसंचार नहीं हो पाने के कारण याददाश्त कमजोर हो जाती है।

• किसी एक ही विषय पर दिन रात चिंता करने से भी याददाश्त कमजोर हो जाती है।

• लगातार काफी दिनों तक पाचन तंत्र की गड़बड़ी से मस्तिष्क को पर्याप्त मात्रा में पोषक तत्व नहीं मिल पाने के कारण भी याददाश्त कमजोर हो जाती है।

• जो लोग बहुत अधिक तम्बाकू, गुटका,एल्कोहल आदि का सेवन करते हैं उनकी भी स्मरण शक्ति कमजोर हो जाती है।

• जिन लोगों को थाइराइड की बीमारी होती है उनकी भी याददाश्त कमजोर हो जाती है।

• जिन लोगों को हाई ब्लडप्रेसर की बीमारी होती है उनकी भी स्मरण शक्ति कमजोर हो जाती है।

• जो लोग पर्याप्त नींद नहीं लेते हैं हमेशा किसी काम को लेकर चिंतित रहते हैं उनकी भी याददाश्त कमजोर हो जाती है।

• जो लोग दिन-रात रतिक्रिया में लिप्त रहते हैं उनकी भी याददाश्त कमजोर हो जाती है।

इसे भी पढ़े

ब्रेस्ट बढ़ाने की होम्योपैथिक दवा


याददाश्त बढ़ाने की होम्योपैथिक दवा | yaddasht badhane ki homeopathic medicine


1• Baryta Carb: बैराइटा कार्ब 30 


जो व्यक्ति मोटे तथा नाटे कद के होते हैं और जवानी में बच्चों की तरह व्यवहार करते हैं उनकी याददाश्त की कमजोरी को दूर करने के लिए बैराइटा कार्ब 30  एक अमोघ औषधि है।

जो बच्चे शारीरिक तथा मानसिक दृष्टि से कमजोर होते हैं,जिनका पेट निकला हुआ रहता है, जिन्हें बहुत जल्दी ठण्ड लग जाती है, जिनके टॉन्सिल में सूजन रहती है उनके लिये यह दवा फायदा करती है।

इसे भी पढ़े

कॉन्फिडेंस बढ़ाने की होम्योपैथिक दवा


 2• Rhododendron 30  (रोडोडेंड्रॉन 30)


जो व्यक्ति बोलते-बोलते अपने विचारों को भूल जाते हैं उन्हें यह याद नहीं आता कि उन्हें क्या बोलना था उनकी याददाश्त की कमजोरी को दूर करने में यह औषधि सहायता करती है।


  3•  Ambar Grisea 30 (ऐम्ब्रा ग्रिशिया 30)


यह दवा उन लोगों के लिए ज्यादा लाभ करती है।जिनकी स्मरण शक्ति इतनी कमजोर हो जाती है कि उन्हें किसी वाक्य को समझने के लिए उसे बार-बार पढ़ना पड़ता है।

ज्यादातर वृद्ध लोगों में या अपनी सामर्थ्य से अधिक काम करने वाले लोगों में दिमाग की कमजोरी में यह दवा फायदा करती है।


4• Lycopodium 200 (लाइकोपोडियम 200)


ऐसे व्यक्ति जो उचित जगहों पर उचित शब्दों का प्रयोग करना भूल जाते हैं, बोलने में बार-बार भूल करते हैं, ठीक जगहों पर उचित शब्द ध्यान में नहीं आता है।

पढ़ते समय शब्दों का अर्थ समझ मे नहीं आता,परन्तु यदि किसी विषय पर गहराई से बोलने या भाषण देने की जरूरत आ पड़े जिसमें उन्हें जोर लगाना पड़े,तो बड़ी आसानी से धारा प्रवाह बोलने लगते हैं।

ऐसे व्यक्तियों के कॉन्फिडेंस बढ़ाने की होम्योपैथिक दवा लाइकोपोडियम है।


5• Lac Caninum 30 ( लैक केनाइनम 30 ) 


हमेशा उदास रहना,भूल जाना,कोई सामान खरीदकर उसे घर लाना भूल जाना,लिखने में भूल करना,लिखना तो कुछ और है और लिख कुछ और ही देना,लिखने में शब्दों का आखिरी अंश लिखने में भूल करना।

रोगी का ऐसा समझना कि उसकी बीमारी ठीक होने वाली नहीं है।थोड़ी सी बात पर  गुस्सा हो जाना आदि।यदि इस प्रकार के लक्षण  किसी रोगी में दिखाई दे तो यह यादादश्त भूलने की बेस्ट होम्योपैथिक दवा है।


6• Anacardium Ori 30  (ऐनाकार्डियम30)


 स्मरण शक्ति को बढ़ाने के लिए होम्योपैथी में इस दवा का प्रमुख स्थान है।याददाश्त का कमजोर हो जाना,दिमागी थकावट(Brain fag),किसी बात पर ध्यान न लगा पाना।

रोगी का हर बात पर संदेह करना,वृद्धावस्था में होने वाला स्मरण शक्ति की कमी,आत्मविश्वास की कमी और दूसरों पर विश्वास न करना।

आँख,कान,नाक आदि इंद्रियों की कार्य क्षमता में कमी,पेट में हमेशा खाली लगना और खाने से सब तकलीफों का कम हो जाना आदि ऐनाकार्डियम के प्रमुख लक्षण हैं।

जिस किसी भी व्यक्ति में इस तरह के लक्षण दिखाई दे तो वहाँ ऐनाकार्डियम 30 का रोज एक मात्रा उपयोग करने से अवश्य ही फायदा होगा।


7• Sulphar 30 (सल्फर 30)


इस दवा में व्यक्ति को बोलते हुए वह शब्द याद नहीं आता है जो उसे बोलना चाहिए।वह नाम याद नहीं आता है जिसपर उसे बोलना है।

रोगी अपने चिरपरिचित व्यक्ति का नाम भूल जाता है।रोगी बड़ा ही भुल्लकड़ होता है।

स्मरण शक्ति की कमजोरी के इन लक्षणों के साथ यदि रोगी की प्रकृति और सल्फर के लक्षण मिलते हैं तो उनकी स्मरण शक्ति बढ़ाने की होम्योपैथिक मेडिसिन सल्फर है।


8• Zincum Metallicum  (जिंकम मेट 30)


इस दवा में रोगी की याददाश्त बहुत ही कमजोर होती है।उसे कुछ भी याद नहीं रहता है।रोगी का मस्तिष्क काम नहीं करता है।

उसका मन हमेशा अर्द्ध निद्रित अवस्था में रहता है।रोगी कोई मानसिक कार्य नहीं कर सकता है।

यहाँ तक कि वह बोलना तक नहीं चाहता है।इस दवा का एक प्रमुख लक्षण है कि रोगी अपने दोनों पैरों को स्थिर नहीं रख सकता है।

वह हमेशा अपने पैरों को हिलाता रहता है।उनकी एकाग्रता बढ़ाने के लिए यह दवा फायदा करती है।


9• Glonoin 30  (ग्लोनायन 30)


इस दवा में रोगी यह भी भूल जाता है कि वह किस गली के तरफ रहता है।जान-पहचान के रास्ते को भी भूल जाता है।जान-पहचान के लोग अजनबी लगने लगते हैं।

वह यह भी नहीं जान पाता है कि वह कहां रहता है।ज्यादातर यह समस्या व्यक्ति के सिर में गर्मी चढ़ जाने के कारण होती है।

इसका रोगी जरा सी भी आग की गर्मी को बर्दाश्त नहीं कर सकता है।उसके मस्तिष्क में रक्त की अधिकता हो जाती है।

किसी व्यक्ति में इस प्रकार के लक्षण रहने पर ग्लोनायन 30 स्मरण शक्ति बढ़ाने की बेस्ट होम्यौपैथिक दवा है। 


10• Lachesis 30 (लैकेसिस 30)


इस दवा में रोगी की स्मरण शक्ति एकदम कमजोर हो जाती है।रोगी जो कुछ सुनता है तुरन्त भूल जाता है।

रोगी जो कुछ कहना चाहता है जबान पर आ गया है, कहते-कहते भूल जाता है।रोगी जिस स्थान पर रहता है उस स्थान का नाम भूल जाता है।

बोलने-लिखने में व्यक्ति हमेशा गलतियां करता है।उसे समय का ज्ञान नहीं रहता है।

इस प्रकार के लक्षण किसी रोगी में रहने पर उसकी लैकेसिस ही उसकी भूलने की होम्योपैथिक दवा है।  


इसे भी पढ़े

होम्योपैथी से बवासीर ठीक होने में कितना समय लगता है? जानिए पूरी जानकारी


11• पिक्रिक एसिड 30


ऐसे व्यक्ति जो हस्थमैथुन,अधिक स्त्रिसंगम आदि कुक्रियाओं को करके अपने मगज को एकदम 

खाली कर चुके हैं, जो अपने मन को एकाग्र नहीं कर सकते हैं।

जिनकी याददाश्त बहुत कमजोर हो चुकी है उनके स्मरण शक्ति  को बढ़ाने के लिये यह  होम्योपैथिक मेडिसिन सबसे अधिक प्रभावी है।


12• Aethusa 30 (इथूजा 30) 


यह दवा उन छात्रों को ज्यादा फायदा करती है जिन्हें घर पर पढ़ने लिखने पर तो सब कुछ याद रहता है लेकिन परीक्षा स्थल में जाने पर सब कुछ भूल जाता है।

 तो उनके लिए यह एक अमोघ औषधि है।यह दवा पढ़ने-लखने के कारण आयी मानसिक थकावट को दूर करके ध्यान केंद्रित करने की शक्ति को बढ़ा देती है।

इसे भी पढ़े

सैक्स पावर बढ़ाने की 10 सबसे असरदार होम्योपैथिक दवा


13• Cannabis Indica 200 (कैनाबिस इंडिका 200)


यह दवा उन लोगों को फायदा करती है जो कोई बात कहते-कहते उसका आखिरी अंश भूल जाते हैं जो हकलाकर बोलते हैं, बोलते-बोलते यह भूल जाते हैं कि वह क्या बोल रहे थे या उन्हें क्या बोलना चाहिए था।

उन्हें बोलने के लिए अपने दिमाग पर बहुत जोर देना पड़ता है।ऐसी स्थिति में इस दवा के प्रयोग से तुरन्त फायदा होता है।


इसे भी पढ़े

मसूड़ों से खून आने की 11 शीर्ष होम्योपैथिक दवा 


14• Thyroidinum 3X (थायरोडिनम 3X)


ऐसे व्यक्ति जिन्हें थाइराइड की बीमारी है।उनकी याददाश्त की कमजोरी को दूर करने में यह दवा फायदा करती है।


15•Brahmi Q( ब्राह्मी Q )


कमजोर याददाश्त को बढ़ाने के लिए यह एक बेजोड़ औषधि है।

इस लेख में अपने जाना याददाश्त बढ़ाने की होम्योपैथिक दवा | yaddasht badhane ki homeopathic medicine के बारे में पूरी जानकारी।

आपको यह जानकारी कैसी लगी हमें कमेंट करके जरूर बताएं।


अस्वीकरण:homeoupchar.com इस लेख में बताए गए तरीकों, विधियों और दावों की पुष्टि नहीं करता है, इन्हें केवल सुझाव के रूप में लें, ऐसे किसी भी उपचार/दवा को लागू करने से पहले डॉक्टर की सलाह जरूर लेनी चाहिए।

इसे भी पढ़े

प्लेटलेट्स बढ़ाने की 10 सबसे असरदार होम्योपैथिक दवा

बच्चों के दांत निकलने की होम्योपैथिक दवा का नाम

घुटनों में दर्द की होम्योपैथिक दवा

टेनिस एल्बो (कोहनी के दर्द) का होम्योपैथिक इलाज

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.